बीजेपी के साथ कांग्रेस से भी होगी बुजुर्गों की विदाई!    Contact for advertisement on  Rahul Thakur   +91 9711477335  
Advertisment
kailash hospital
Click here for More News...
 
9 march 2012
 
और देश के विभिन्न महत्वपूर्ण संस्थानों-स्थानों पर हमला या विस्फोट की किसी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। एटीएस की चेतावनी के बाद देश की तमाम सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही, राजस्थान के जैसलमेर और बाड़मेर सहित पाकिस्तान सीमा से लगे चार जिलों में चौकसी बढ़ा दी गई है। राजस्थान एटीएस के एसपी ने 28 अगस्त को यह पत्र राज्य के सभी पुलिस महानिरीक्षकों (आईजी) को लिखा है। पत्र में आतंकियों के घुसने की आशंका जाहिर की गई है और इसे देखते हुए महत्वपूर्ण जगहों और संस्थानों वगैरह की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने का सुझाव दिया गया है। राजस्थान के रास्ते क्यों- सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि जम्मू से लगी सीमा पर पाकिस्तान की ओर से लगातार गोलीबारी के साथ ही आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश की जा रही है, जो अब तक नाकाम रही है। बीएसएफ की कड़ी चौकसी के चलते आतंकियों ने राजस्थान का रास्ता चुना है। विशेषज्ञों के मुताबिक, राजस्थान सीमा पर घुसपैठ में अगर आतंकी सफल हुए हैं, तो वे गुजरात से भी भारत में घुसने का रास्ता निकाल सकते हैं। वहीं बीएसएफ सूत्रों के मुताबिक, आतंकियों की घुसपैठ के बाद सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है और खुफिया तंत्र को भी सक्रिय कर दिया गया है।
 Photo Gallery
jai medical